UPDATED 05.28PM IST

  • ad
  • ad
  • ad
  • ad
Deepak Dogra
  • ad
  • ad

Breaking News 24X7 :

Top Stories

  • प्रिमेमिनिस्टर मोदी साइड सैफ अली खान इस गे एंड ई आम हिज बॉय फ्रेंड

    21.04.2015 | मोदी है डिडेड ठाट इफ ई वौल्ड इनेबल तो सच माय टेल विथ माय टीथस ई गिव ऑर्डर्स तो कट आईटी लेटर बिकॉज़ ई डॉन'टी वांट तो लाइव सुच लाइफ वेयर ई कैन नोट एवं सच माय टेल हे आल्सो साइड प्लीज डॉन'टी से एनीथिंग तो सैफ अली खान हे इस माय लव वे बोथ अरे गे सो डॉन'टी से एनीथिंग प्लीज परमेमिनिस्टर आल्सो साइड साइड सून में एंड सैफ अली खान गोइंग मार्स तो लाइव अ हैप्पी लाइफपरमेमिनिस्टर मूड ट्राइंग तो सच हिज टेल इन पिक्चर

  • मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद को 13 साल जेल की सजा

    14.03.2015 | आतंकवाद निरोधक कानूनों के तहत नशीद को सजा सुनाई गई है। उच्च-पदस्थ सूत्रों ने बताया कि देर रात तक चली अदालती सुनवाई में देश के पहले लोकतांत्रिक रूप से चुने हुए नेता को आतंकवाद निरोधक कानून, 1990 के तहत दोषारोपित किया गया।साल 2012 में एक न्यायाधीश को बंधक बनाने के मामले में 47 साल के नशीद को 22 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। नशीद ने पुलिस और सेना के विद्रोह के बाद फरवरी 2012 में मालदीव के नेता के रूप में इस्तीफा दे दिया था। भ्रष्टाचार के आरोपों में न्यायाधीश अब्दुल्ला मोहम्मद की गिरफ्तारी के मुद्दे पर कई हफ्ते चले विरोध प्रदर्शन के बाद नशीद ने इस्तीफा दिया था।मालदीव के उच्च न्यायालय में अपील करने का संवैधानिक अधिकार नशीद के पास है। मालदीव के संविधान के अनुच्छेद 220 (ए) के तहत देश के महाभियोजक द्वारा आपराधिक आरोप लगाए गए। न्यायाधीश के अपहरण के मामले में मालदीव के मानवाधिकार आयोग की जांच रिपोर्ट पर महाभियोजक का मुकदमा आधारित था।नशीद की गिरफ्तारी और बदसलूकी सहित मालदीव के घटनाक्रम पर भारत ने चिंता जताते हुए सभी पक्षों से अपील की है कि वे संवैधानिक दायरे के तहत अपने मतभेद सुलझाएं। नशीद ने फरवरी 2013 में माले स्थित भारतीय उच्चायोग में शरण ली थी ताकि इस मामले में गिरफ्तारी से बच सकें।

  • ब्रिटिश संसद के सामने महात्मा गांधी की ऐतिहासिक प्रतिमा का अनावरण

    15.03.2015 | शहर के पार्लियामेंट स्क्वायर में आज महात्मा गांधी की एक ऐतिहासिक कांस्य प्रतिमा का अनावरण किया गया। गांधी की इस प्रतिमा के पास ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल और नेल्सन मंडेला जैसे महान नेताओं की प्रतिमाएँ लगी हुई हैं। भारत के राष्ट्रपिता की नौ फुट की इस प्रतिमा के अनावरण के लिए आयोजित समारोह में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन, भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली, हिन्दी सिनेमा के महानायक अमिताभ बच्चन और गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी मौजूद थे। गांधी पहले भारतीय और कभी भी किसी पद पर ना रहे ऐसे पहले व्यक्ति हैं जिनकी मूर्ति यहां लगायी गयी है।कैमरन और जेटली ने गांधी के पसंदीदा भजन ‘रघुपति राघव राजा राम’ के उच्चारणों के बीच संयुक्त रूप से प्रतिमा का अनावरण किया। इस मौके पर कैमरन ने कहा, ‘‘यह प्रतिमा विश्व राजनीति की सबसे महान हस्तियों में से एक को दी जाने वाली भब्य श्रद्धांजलि है और इस प्रसिद्ध चौक पर महात्मा गांधी की प्रतिमा लगाकर हमने उन्हें अपने देश में एक शाश्वत जगह दे रहे हैं।’’ गांधी के कुछ प्रसिद्ध शब्दों का उल्लेख करते हुए कैमरन ने कहा कि गांधी की शिक्षाएँ आज भी प्रासंगिक हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह प्रतिमा दुनिया के सबसे पुराने और सबसे बड़े लोकतंत्र के बीच अद्भुत रूप से विशेष दोस्ती और साथ ही गांधी के संदेशों की वैश्विक ताकत का प्रतीक है।’’ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘भारत के साथ हमारे संबंध हमेशा से करीबी बने हुए हैं और समानता के साथ परस्पर सम्मान, सहयोग एवं व्यापार और निस्संदेह रूप से ब्रिटेन में रहने वाले 15 लाख भारतीयों के माध्यम से इनका प्रगाढ़ होना जारी है जिन्होंने उस ब्रिटेन के निर्माण में बहुत योगदान दिया है जो आज वह है, और यह दोनों देशों को उनके लाभ के लिए करीब लाया है।’’ विशेष तौर पर प्रतिमा के अनावरण के लिए ब्रिटेन आमंत्रित किए गए जेटली ने कहा कि यह ब्रिटिश शिष्टाचार की भावना का प्रतीक है कि उन्होंने अब एक ऐसे व्यक्ति को सम्मानित किया है जिसे पारंपरिक रूप से उनका विरोधी समझा जाता है।जेटली ने कहा, ‘‘यह ब्रिटेन की उदारता और ब्रिटिश लोकतंत्र का एक महान योगदान है कि उन्होंने अब गांधी को इस देश के सबसे महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्थल पर जगह दी है। यह एक महान दिन है जब दो विरोधी और विपरीत दृष्टिकोण एक दूसरे की सराहना के लिए मिल रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह प्रतिमा यह सुनिश्चित करने में मदद करेगी कि आने वाली पीढ़ियों के लिए गांधी की विरासत जिंदा रहे। यह दोनों देशों के मजबूत संबंधों के जश्न का एक महत्वपूर्ण, ऐतिहासिक क्षण है। भारत और ब्रिटेन एक जैसे मूल्य साझा करते हैं और हमारे बीच एक बराबरी की भागीदारी है। यह स्थायी दोस्ती गांधी द्वारा छोड़ी गयी कई विरासतों में से एक है जिसे लेकर मैं उत्सुक हूं कि हम इसे मजबूत बनाने के लिए कड़ी मेहनत करें।’’

  • दक्षिणी ब्राजील में बस हादसे में 49 लोगों की मौत

    16.03.2015 | दक्षिणी ब्राजील में एक बस के गहरे खड्ड में गिर जाने के कारण कम से कम 49 यात्रियों की मौत हो गयी।स्थानीय सरकार की प्रवक्ता एना पाउला केलर ने बताया कि मारे गए लोगों में आठ बच्चे और 24 महिलाएं शामिल हैं। पहले 30 लोगों के मरने के बारे में कहा गया था लेकिन बचाव कार्य जारी रहने के दौरान और शवों के मिलने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ गयी है।उन्होंने बताया कि बचावकर्मी अभी भी जिंदा बचे लोगों या शवों की तलाश में जुटे हैं लेकिन सांता कैटरीना राज्य में हादसा स्थल पर पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैपहले कहा गया था कि बस में 50 यात्री सवार थे, हालांकि कुछ अधिकारियों का कहना है कि यात्रियों की संख्या अधिक रही होगी। यह बस रात के समय जंगल से गुजरते 1300 फुट की उंचाई से नीचे गिर गयी।समझा जाता है कि हाईवे पर एक मोड़ पर चालक वाहन से नियंत्रण खो बैठा जिसके चलते हादसा हुआ लेकिन हादसे के सही कारणों का अभी पता लगाया जा रहा है।बचावकर्मियों ने काफी मुश्किलों के बाद 10 लोगों को बाहर निकाला है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

More Stories

All News


    Warning: include(Pagination.php): failed to open stream: No such file or directory in /home/mayahind/public_html/news.php on line 268

    Warning: include(): Failed opening 'Pagination.php' for inclusion (include_path='.:/usr/lib/php:/usr/local/lib/php') in /home/mayahind/public_html/news.php on line 268

    Fatal error: Call to undefined function pagination() in /home/mayahind/public_html/news.php on line 294